सुविवि : धरने पर बैठे कर्मचारियों से मिले शहर विधायक ताराचंद जैन, राज्यपाल और उप मुख्यमंत्री तक पहुंचाई कर्मचारियों की समस्याएं

उप मुख्यमंत्री ने शीघ्र ही दिया निस्तारण का आश्ववासन
उदयपुर। उदयपुर शहर विधायक ताराचंद जैन ने मंगलवार को मोहनलाल सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय में धरने पर बैठे 327 कर्मचारियों से मुलाकात की और इनकी समस्याओं को सुना। इसके बाद ताराचंद जैन ने इस संबंध में प्रदेश के राज्यपाल महामहिम कलराज मिश्र से बात कर धरने पर बैठे कर्मियों की समस्याओं को बताया। साथ ही उपमुख्यमंत्री और उच्च शिक्षा मत्री प्रेमचंद बैरवा से भी बात की।

बैरवा ने शीघ्र ही इनकी समस्या का निस्तारण करने का आश्वसन दिया। जानकारी के अनुसार मोहनलाल सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय के सेल्फ फाईनेंस बोर्ड के तहत 327 कर्मचारी विभिन्न विभागों में कार्यरत है। इन सभी को जनवरी से वेतनमान नहीं मिला और हाल में ही राज्य सरकार ने एक आदेश जारी कर सेल्फ फाईनेंस बोर्ड के सभी 327 कर्मचारियों को हटा दिया।

इस आदेश के बाद से ही यह सभी सेल्फ फाईनेंस बोर्ड 327 कर्मचारियों ने काम का बहिष्कार कर दिया और अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सुविवि के प्रशासनिक भवन मेें धरने पर बैठे है। इनकी समस्याओं को जानने के लिए मंगलवार को शहर विधायक ताराचंद जैन सुविवि के प्रशासनिक भवन गए।

इस दौरान सुविवि की उप कुलपति प्रो. सुनीता मिश्रा भी मौजूद रही। धरनार्थियों ने बताया कि उन्हे जनवरी से वेतन नहीं मिला है और एक आदेश जारी कर उन्हें हटा दिया गया और ऐजेन्सी के माध्यम से रखना चाहते है। इस पर शहर विधायक ताराचंद जैन ने उप कुलपति प्रो. सुनीता मिश्रा से चर्चा कहा कि सभी को दो माह का वेतन शीघ्र ही दिलाया जाएगा और निस्तारण नहीं होने तक सभी 31 जुलाई तक यथावथ काम करें। धरने पर बैठे कर्मियों से चर्चा करने के बाद शहर विधायक ताराचंद जैन ने राज्यपाल कलराज मिश्र से बात कर धरने पर बैठे कर्मचारियों की वेनत और अन्य समस्याएं बताई, इस पर राज्यपाल कलराज मिश्र ने राजभवन से जारी करने की जानकारी दी और अब राज्य सरकार के हाथ में होना बताया। इस पर शहर विधायक जैन ने उप मुख्यमंत्री व उच्च शिक्षा मंत्री प्रेमचंद बैरवा से फोन पर बात कर इस बारे में बताया तो बैरवा ने प्रिंसिंपल सैकेट्री से बात कर शीघ्र ही इस समस्या का निस्तारण करवाने का आश्वासन दिया है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *