विधानसभा में बोले शहर विधायक : उदयपुर में धार्मिक पर्यटन सर्किट बनाया जाए, ताकी आम व्यक्ति की आय बढ़े

विधानसभा में उठाया बड़गांव डबल मर्डर और पुलिस की लचर कार्यवाही, झीलों-नदियों को अतिक्रमण मुक्त करवाने की जरूरत


उदयपुर। उदयपुर शहर विधायक ताराचंद जैन ने विधानसभा में उदयपुर में धार्मिक पर्यटन सर्किट बनाने की बात कहीं जिससे धार्मिक पर्यटन बढ़ और आम व्यक्ति की आय बढ़े। साथ ही विधायक जैन ने बड़गांव डबल मर्डर को भी विधानसभा में उठाया और पुलिस लचर कार्यवाही को बताया। साथ ही उदयपुर की झीलों व नदियों को अतिक्रमण मुक्त करने का मुद्दा उठाया।
शहर विधायक ताराचंद जैन ने विधानसभा में कहा कि उदयपुर धार्मिक पर्यटन नगरी है और एकलिंगजी, सहस्त्रबाहू मंदिर, उबेश्वर जी महादेव, नाथद्वारा, कमलनाथ, जगत माताजी के मंदिरों को जोड़ने के लिए पर्यटन सर्किट बनाने की मांग। ताराचंद जैन ने कहा कि इन मंदिरों तक आने-जाने की सुविधा की जाए, जिससे आम व्यक्ति की आय में वृद्धि हो और आने वाला पर्यटक उदयपुर की संस्कृति से रूबरू हो सकें। इसके साथ ही उदयपुर शहर विधायक ताराचंद जैन ने उदयपुर की झीलों और नदियों को अतिक्रमण मुक्त करवाने पर जोर दिया। विधानसभा में ताराचंद जैन ने जैन संतो के चातुमार्स में सुरक्षा देने और उनके लिए भूमि आवंटन के निर्देश पर सरकार का आभार जताया। ताराचंद जैन ने काली, सिंध व चंबल नदियों को जोड़ने पर सरकार का आभार जताते हुए कहा कि इस निर्णय से प्रदेश के 32 बांध भरे रहेंगे और प्रदेश की जनता को पेयजल के लिए राहत मिलेगी।


व्यवस्था परिवर्तन करने की जरूरत
विधानसभा में ताराचंद जैन ने बड़गांव में हुए डबल मर्डर के मुद्दे को भी उठाया। ताराचंद जैन ने कहा कि एक विधवा महिला बिनु कुँवर के साथ उसके देवर मोहन सिंह व उसके बच्चों ने मारपीट की। जब विधवा ने थाने में रिपोर्ट दी पर पुलिस ने देरी से मामला दर्ज किया। उसी रात को इस विधवा महिला के बेटे व उसके मित्र की हत्या कर दी गई। ताराचंद जैन ने कहा कि जनता ने राज परिवर्तन तो कर दिया पर अब व्यवस्था परिवर्तन करने की जरूरत है।


सरकार की नीतियों से रिकार्ड मतों से जिताया
ताराचंद जैन ने विधानासभा में कन्हैयालाल साहू हत्याकांड का मामला भी रखा, उन्होंने कहा कि शांत शहर कुछ असामाजिक तत्वों ने कन्हैयालाल की निर्मम हत्या कर दी। गहलोत सरकार की तुष्टिकरण की नीतियों इस हत्याकांड का कारण रहीं। उदयपुर की जनता नहीं चाहती थी उदयपुर की पहचान कन्हैयालाल हत्याकांड से हो इस कारण ही उन्हें उदयपुर की जनता ने रिकार्ड मतों से जिताया।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *