जनजाति क्षेत्र के सर्वतोमुखी विकास की सरकार की मंशा को पूर्ण करें : जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री

टीएडी मंत्री ने ली विभागीय अधिकारियों की बैठक

जयपुर। जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के मंत्री श्री बाबूलाल खराड़ी ने शुक्रवार को उदयपुर जिले के आयुक्तालय सभागार में विभागीय अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने संबंधित अधिकारियों के साथ विभागवार प्रगति की समीक्षा की एवं विभागीय कार्यों पर चर्चा करते हुए जनजाति क्षेत्र के सर्वतोमुखी विकास की सरकार की मंशा को पूर्ण करने के निर्देश दिए।

मंत्री खराड़ी ने जनजाति कल्याण निधि की योजनाएं आश्रम छात्रावास, मां बाडी संचालन, आवासीय विद्यालय, मॉडल पब्लिक स्कूल, खेल छात्रावास संचालन आदि के बारे में जानकारी ली और सरकार की ओर से जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों, महिलाओं को दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ सुलभ कराने के निर्देश दिए। जनजाति मंत्री ने जलोत्थान सिंचाई परियोजनाओं पर चर्चा करते हुए आगामी ग्रीष्म ऋतु में जनजाति क्षेत्रों में जल वितरण व्यवस्था को प्रभावी बनाने पर जोर दिया। ग्रीष्मकाल में मवेशियों का भी विशेष ध्यान रखने की बात कही। उन्होंने कृषि एवं रोजगारोन्मुखी गतिविधियों के बारे में ग्रामीणों को जागरूक करने की बात कही। उन्होंने जनजाति क्षेत्रों में स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं व कार्यक्रमों को प्रभावी बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने, जनजाति वर्ग के लोगों को स्वच्छता का महत्व बताने एवं जागरूक करने पर जोर दिया।

लंबित कार्यों को तय समय सीमा में करें


मंत्री ने विभिन्न निर्माण कार्यों की अब तक स्थिति की समीक्षा करते हुए लंबित कार्यों को तय समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने उच्च अधिकारियों को सभी कार्यों की मॉनिटरिंग करने तथा औचक निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए। श्री खराडी ने कहा कि जनजाति विकास से जुड़े कार्यों में गुणवत्ता के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने स्पष्ट किया कि विभागों में संवादहीनता न रहे और सभी आपसी समन्वय के साथ जनहित के कार्यों को पूरा करें। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों के सुदुढ़ीकरण के भी निर्देश दिए।

अधीनस्थों के प्रति विनम्रता रखे अधिकारी


उन्होंने अधिकारियों को अपने अधीन स्टाफ एवं कार्य करने वालों के प्रति विनम्रता रखने की बात कही। उन्होंने कहा कि समय—समय पर फील्ड में जाकर विभागीय गतिविधियों व कार्यों का अवलोकन करें और कहीं कोई कमी मिलती है तो पहले प्रेम से समझाएं, हमेशा धमकाने वाली प्रवृति न रखें। श्री खराड़ी ने 100 दिवसीय कार्ययोजना और बजट घोषणाओं की प्रगति की भी समीक्षा की और जनजाति कल्याण से जुड़ी सभी योजनाओं व कार्यक्रमों के प्रभावी क्रियान्वयन पर जोर दिया।

शासन सचिव जोगाराम ने भी दिए निर्देश

बैठक दौरान विभाग के शासन सचिव डॉ. जोगाराम ने भी विभागीय कार्यों की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को क्षेत्र में कार्य करने वाली एजेन्सी के साथ संवादहीनता नहीं रखने, कार्यों की लगातार मॉनिटरिंग करने और औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि आदि आदर्श ग्राम योजना का कार्य धीमी गति से चल रहा है तो जिम्मेदारी संबंधित अधिकारी की रहेगी। विभाग की आयुक्त श्रीमती प्रज्ञा केवलरमानी ने बैठक में एजेंडा पर चर्चा करते हुए विभागीय कार्यों को प्राथमिकता से पूरा करने के निर्देश दिए। इस दौरान संभाग के विभिन्न जिलों से टीएडी विभागीय अधिकारी और कार्यकारी एजेंसियों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *