बेवफा उदयपुर नगर निगम : पहले अतिक्रमण होने दो, फिर चलाएंगे बुलडोजर…आज चला, अतिक्रमण तोड़ा

Editor’s comment : पहले मोहब्बत की और फिर दिल तोड़ दिया, अक्सर अपराध होने के बाद ही पुलिस पहुंचती है, जब बीमारी फेल जाती है, तब स्वास्थ्य विभाग रोकथाम के कदम उठाता है…यही सिस्टम है। नगर निगम उदयपुर भी यही कर रहा है। निगम ने कभी भी अतिक्रमण को शुरू में रोकने पर कोई कदम नहीं उठाए। यदि ऐसा हो जाए तो कम से कम तोड़फोड़ और लोगों का नुकसान नहीं होगा। जब आम लोगों को, पत्रकारों को यह सब दिखाई देता है तो निगम की फौज, जिसमें पार्षद शामिल हैं, उनको क्यों नहीं दिखाई देता है? मेरा दावा है कि इस सवाल का जवाब निगम के अधिकारी नहीं दे पाएंगे।

यहां से पढ़ें अतिक्रमण हटाए जाने की खबर
महापौर, उपमहापौर ने जारी की अपील, कार्रवाई में सहयोग देवे।

फोटो : कमल कुमावत


उदयपुर। नगर निगम द्वारा अतिक्रमण के खिलाफ छेडी मूहिम सोमवार को भी जारी रही। नए साल के पहले दिन निगम दस्ते द्वारा सवेरे 9:00 बजे से लगाकर देर रात तक अतिक्रमण के खिलाफ लगातार कार्रवाई करते हुए शहर को अतिक्रमण मुक्त बनाने के प्रयास में सराहनीय कार्य किया।
नगर निगम उप महापौर एवं स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष पारस सिंघवी ने बताया कि पिछले कई दिनों से नगर निगम द्वारा शहर में बढ़ रहे अतिक्रमण को लेकर सख्त कार्रवाई की जा रही है। यह कार्यवाही सोमवार को भी अनवरत जारी रही। सवेरे 9:00 बजे निगम टीम द्वारा कोर्ट चौराहे से अतिक्रमण हटाना शुरू किया जो महाराणा भूपाल चिकित्सालय, चेतक सर्कल, चेतक टॉकीज के सामने सभी अवैध ठेला संचालकों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पुनः कोर्ट चौराहे तक जितना भी अतिक्रमण था उसे तोड़कर और जब्त कर अच्छी पहल की शुरुआत की है।

यह कार्रवाई नगर निगम द्वारा पूरे शहर में की जानी है अतः वह व्यक्ति जिसने स्थाई या अस्थाई अतिक्रमण कर रखा है वह अपने स्वयं के स्तर पर अतिक्रमण हटाकर नगर निगम का सहयोग करें। उप महापौर सिंघवी ने बताया कि अतिक्रमण की कार्यवाही यूनिवर्सिटी 100 फीट रोड पर देर रात तक भी की गई। वहां पर अवैध ठेला संचालकों द्वारा खुले में मांस की बिक्री की जा रही थी। वहां से उनको हटाकर उनका सामान जब्त किया गया। अतिक्रमण के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को लेकर कुछ समय पूर्व महापौर ने नगर निगम आयुक्त वासुदेव मालावत को निर्देश जारी किए थे। निर्देश की पालना में आयुक्त ने निगम की टीम बनाकर अतिक्रमण के खिलाफ लगातार कार्यवाही अमल में लाई जा रही है। महापौर, उप महापौर ने की अपील।


नगर निगम महापौर गोविंद सिंह टाक एवं उप महापौर पारस सिंघवी ने शहर के सभी व्यापारी वर्ग से अपील करते हुए कहा है कि यदि आप द्वारा किसी भी प्रकार का स्थाई एवं स्थाई अतिक्रमण किया गया है तो उसे अपने स्वयं के स्तर पर तुरंत हटाकर नगर निगम का सहयोग करें। अतिक्रमण के कारण शहर में वाहनों के संचालन में, पैदल चलने में कई तरह की समस्याएं हो रही है, पूरा शहर का घंटो जाम रहता है। ट्रैफिक रेंगता हुआ आगे बढ़ता है।

इसको लेकर शहर की जनता द्वारा नगर निगम को उलाहना दिया जाता है। नगर निगम का उद्देश्य किसी भी व्यापारी या व्यक्ति को परेशान करना नहीं है। बस शहर की सुंदरता के साथ-साथ शहर वासियों एवं यहां आने वाले पर्यटकों को अच्छी सुविधा मुहैया कराना नगर निगम का कर्तव्य है जिसमें नगर निगम किसी भी तरह से कोताही नहीं बरतेगा। सभी शहर वासी एवं व्यापारी वर्ग इस कार्रवाई में अपना सहयोग देकर निगम का समर्थन करें।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *