महाशिवरात्री : परम्परागत रूप से हुई आशुतोष भगवान श्री महाकालेश्वर की पूजा अर्चना, हजारों श्रद्धालुओं ने किए प्रभु के दर्शन, मांगी मनोकामना

फोटो : कमल कुमावत


उदयपुर। महाशिवरात्रि पर्व शुक्रवार को अतिप्राचीन शिवधाम रानी रोड़ पर स्थित श्री महाकालेश्वर मंदिर में पूर्ण श्रद्धा एवं विविध पूजानुष्ठानों के साथ मनाया गया।


सार्वजनिक प्रन्यास मंदिर श्री महाकालेश्वर न्यास अध्यक्ष तेजसिंह सरूपरिया ने बताया कि महाशिवरात्रि महोत्सव समिति के
तत्वाधान में प्रभु महाकालेश्वर की प्रातः 6.30 बजे मंगला आरती व पूजा के बाद 10.30 प्रदोष महापूजा, भगवान भोलेनाथ का विशेष श्रृंगार, भोग, ध्वजपताकाओं का पूजन व आरती की की गई। इसके बाद अभिजित मुर्हत 12.15 बजे श्रीगणपति, श्री भैरव, ओगडी माई की धूणी व भोलेनाथजी के समाधि पर ध्वजा चढाई गई।


प्रन्यास सचिव चन्द्रशेखर दाधीच ने बताया कि मंदिर में ब्रह्म मुहूर्त में वैदिक मंत्रोच्चार परम्परागत प्रथा के अनुरूप महादेव का सहस्त्रधारा जलाभिषेक हुआ। इस मौके पर मंदिर के सभाभमण्डप एवं गर्भगृह को सुगन्धित पुष्पों से श्रृंगारित किया गया। भोलेनाथ की मंगला आरती, मध्याह्न आरती एवं सांयकाल को विशेष श्रृंगार, पूजा-अर्चना का सायं 7 बजे महाआरती की गई। सचिव चन्द्रशेखर दाधीच ने बताया कि सांय 6.15 बजे गंगाघाट पर 108 दीपकों की महाआरती गई। आरती देवस्थान विभाग के जतीन जी गांधी, अखिलेश जोशी संग शिवभक्तों द्वारा की गई। रात्रि को चारों पहर की पूजा व परम्परागत रूप से महाकालेश्वर का विभिन्न द्रव्य से रूद्राभिषेक एवं पूजा अर्चना पं. फतहलाल चैबीसा द्वारा सवा नो बजे प्रथम प्रहर की पूजा शुरू की।


महाशिवरात्रि के अवसर पर गौ-सेवा मनोरथ के तहत गायों की पूजा अर्चना कर उन्हें लापसी का भोग धराया गया।
मंदिर प्रशासक दीक्षा भार्गव ने बताया कि दर्शनार्थियों के लिए महिला व पुरूषों के लिए अलग-अलग कतारों से दर्शन की व्यवस्था की गई जिससे महिला एवं पुरूषों को सुगमता से दर्शन लाभ हुए। वहीं रूद्रवाहिणी, रूद्रसेना, महारूद्रमण्डल, ट्रस्ट पदाधिकारियों व कार्यकारिणी सदस्यों व गठित समिति के सदस्यों ने काफी रूचि के साथ श्रद्धालुओं का कतारबद्ध हो दर्शन कराएं।
सेगारी फलहार वितरण: श्री महाकालेश्वर अन्न यज्ञ सेवा समिति के के.जी.पालीवाल, भंवरलाल पालीवाल ने बताया कि दर्शनार्थ आने वाले श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरण अन्न यज्ञ सेवा समिति की ओर से सेगारी फलहारी की व्यवस्था की गई सायंकाल पकौडा, आलुबडा, ठण्डाई की व्यवस्था की जिसकी संपूर्ण व्यवस्था प्रदीप आमेटा, रवि शर्मा, धु्रपद चैहान, रमेश राजपूत, रमेश सोनी, अनिल वानखेडे की देखरेख में रहेगा। विद्युत सज्जा शंकर कुमावत व मनीष कुमावत द्वारा की जा रही है।
प्रन्यास सचिव चन्द्रशेखर दाधीच ने बताया कि महाशिवरात्री महोत्सव व 25वीं रजत महोत्सव के तहत् प्रन्यास द्वारा श्री महाकालेश्वर मंदिर की अधिकृत वेबसाईट www.mahakaaludaipur.com एवं mahakaaldarshanudaipur यू ट्यब चैनल लाॅंच के पश्चात् हजारों दर्शकों ने आॅन लाईन दर्शन का भी लाभ लिया। दाधीच ने बताया कि वेब साईट पर महाकालेश्वर के जीवन्त दर्शन 24 घंटे प्रतिदिन शिवभक्त कर पाएंगे। साथ ही शिवभक्त वेब साईट के माध्यम से मंदिर हेतु भेंट इत्यादि देना चाहे तो वह आॅनलाईन भेंट कर सकेंगे। अधिकृत वेब साईट जारी करने के साथ ही भक्तों का इससे जुड़ने का सिलसिला प्रारंभ हो गया है और भक्गतगण उत्साह के मोबाईल के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा जुड़ रहे है।
इस अवसर पर प्रन्यास के रमाकान्त शर्मा, त्रिलोक पालीवाल, इन्दु शेखर व्यास, दीक्षा भार्गव, गोपाल लोहार, राजेश जोशी, राधेश्याम दाधीच, विनोद कुमार शर्मा, यतेन्द्र दाधीच सहित कई गणमान्य उपस्थित थे।
आज की व्यवस्था विनोद कुमार शर्मा, एडवोकेट महिपाल शर्मा, तेजशंकर पालीवाल, रमेश राजपूत, देवकिशन राव, यतेन्द्र दाधीच, भंवरलाल पालीवाल, राधेश्याम दाधीच, चतुर्भज आमेटा, रमेश सोनी, पं.हरीश, आरती जोशी, दिनेश मेहता, राजू सोनी, सुरेन्द्र मेहता, शंकर कुमावत, पुरूषोत्तम जीनगर, कमल चैहान, प्रतिक्षा मेहता, शेषमल सोनी, अनिल चैधरी, लोकेश मेहता, प्रेमलता लोहार, गिरिराज सोनी आदि ने दी।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *