वनवासी कल्याण परिषद में कामकाज और कटारिया के सपोर्ट से उदयपुर लोकसभा सीट से बीजेपी के प्रत्याशी बने मन्नालाल रावत

उदयपुर। बीजेपी ने उदयपुर लोकसभा क्षेत्र से परिवहन विभाग के अधिकारी मन्नालाल रावत को प्रत्याशी घोषित किया है। सरकारी सेवा में रहते हुए रावत लंबे समय से वनवासी कल्याण परिषद में दायित्व निभाते रहे। मेरे लिहाज से जो भी उनसे मिला होगा, उनकी राजनीति समझ का जरूर कायल हुआ होगा। यही वजह है कि मेवाड़ की राजनीति के दिग्गज गुलाबचंद कटारिया ने भी उनकी पैरवी की। नतीजा टिकट के रूप में सामने आया।

बीजेपी प्रत्याशी मन्नालाल रावत प्रतापगढ़ जिले के एक गांव के रहने वाले हैं। गांव में ही स्कूलिंग होने के बाद उदयपुर शहर से ही उन्होंने स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई की। यहीं से उन्होंने आरएएस की परीक्षा दी। उदयपुर में डीटीओ, आरटीओ के पद पर रहे। शहर के कई राजनीतिज्ञों, वकीलों, पत्रकारों और अधिकारियों से उनकी अच्छी दोस्ती है।

बताया जा रहा है कि रावत वनवासी कल्याण परिषद में लंबे समय से आदिवासी क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने ही उनके नाम को आगे बढ़ाया, इसी कारण कटारिया भी रावत के नाम से राजी हो गए।

कांग्रेस के लिए मन्नालाल रावत बड़ी चुनौती है। उनके सामने कांग्रेस को टिकट चयन में दिक्कत आ सकती है। वहीं बीजेपी ने कांग्रेस के वागड़ क्षेत्र से सबसे दिग्गज महेंद्रजीत मालवीया को उम्मीदवार बनाया है।

उदयपुर व बांसवाड़ा सीटों के लिए अब कांग्रेस और बाप पार्टी क्या रणनीति अपनाएगी, ये आने वाले दिनों में पता चलेगा।

बीजेपी ने अपने प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी को चित्तौड़ से तीसरी बार टिकट दिया है। चित्तौड़ की सीट पर बीजेपी को संकट खड़ा हो सकता है क्योंकि ज्यादातर विधानसभा सीट पर सीपी जोशी के विरोधियों की लंबी फेहरिस्त है। बतौर प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी भले ही अपनी पीठ थपथपा ले, लेकिन विधानसभा में उनके क्षेत्र में बीजेपी का परफॉर्मेंस आउटस्टैंडिंग नहीं रहा है। अभी तक वे दोनों चुनाव मोदी लहर की बदौलत ही जीते हैं। यह बात उनके विरोधी और समर्थक दोनों मानते हैं।

बहरहाल भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2024 के प्रत्याशियों की पहली सूची शनिवार को जारी कर दी। इस सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सहित 195 से अधिक नेताओं के नाम शामिल हैं। इसमें 34 मंत्री सहित पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, त्रिपुरा के पूर्व विप्लव कुमार देव और 28 महिलाओं का नाम शामिल है। 47 ऐसे हैं जिनकी उम्र 50 से कम है। एससी 27 और एसटी 18 और ओबीसी 57 हैं।

प्रत्याशियों के चयन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में गुरुवार को केंद्रीय कार्यालय में बैठक हुई थी। बैठक की अध्यक्षता भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने की। इस बैठक में केंद्रीय चुनाव समिति के सदस्य रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री सर्वानंद सोनोवाल,भूपेंद्र यादव, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, डॉ के लक्ष्मण, डॉ इकबाल सिंह लालपुरा, सुधा यादव, सत्यनारायण जटिया, महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस, उपाध्यक्ष ओम माथुर और भाजपा के संगठन महामंत्री बीएल संतोष के अलावा प्रदेशों के चुनाव प्रभारी, सह प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश संगठन महामंत्री भी मौजूद रहे।

राजस्थान की सूची

1.बीकानेर- अर्जुन राम मेघवाल
2.चूरू- देवेंद्र झाझड़िया
3.सीकर- स्वामी सुमेधानंद सरस्वती
4.अलवर- भूपेंद्र यादव
5.भरतपुर- रामस्वरुप कोली
6.नागौर- ज्योति मिर्धा
7.पाली- पीपी चौधरी
8.जोधपुर- गजेंद्र सिंह शेखावत
9.बाड़मेर- कैलाश चौधरी
10.जालौर- रुपाराम चौधरी
11.उदयपुर- मन्नालाल रावत
12.बांसवाड़ा- महेंद्रजीत सिंह मालवीय
13.चित्तौड़गढ़- सीपी जोशी
14.कोटा- ओम बिरला
15.झालावाड़-बारां- दुष्यंत सिंह

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *