बजट 2024- 25 : अजमेर मंडल किस रेलवे परियोजना को कितना फंड मिला, उदयपुर भी इसी मंडल में

रेल बजट 2024-25
उत्तर पश्चिम रेलवे को 9714 करोड़ का आवंटन गत वर्ष की तुलना में 12.47 प्रतिशत अधिक का प्रावधान
नई रेल लाइन, संरक्षा तथा यात्री सुविधाओं पर विशेष ध्यान केंद्रित

अजमेर। 01.02.2023 को प्रस्तुत बजट में उत्तर पश्चिम रेलवे को रेल परियोजनाएं, यात्री सुविधाओं, संरक्षा को सुदृढ़ करने के लिए बजट का प्रावधान किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे को वर्ष 2024-25 के बजट में 9714.28 करोड़ रूपए आवंटित किए गए हैं जो कि गत वर्ष के 8636.85 करोड़ रूपए की तुलना में 12.47 प्रतिशत अधिक है।

उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री अमिताभ के दिशा निर्देश में उत्तर पश्चिम रेलवे पर रेलवे का आधारभूत ढ़ांचे को मजबूत बनाने, रेल संरक्षा तथा यात्री सुविधाओं पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया गया हैं। वर्ष 2024-25 के बजट में उत्तर पश्चिम रेलवे के लिए नई रेल लाइनों के निर्माण, दोहरीकरण, यात्री सुविधाओं, ट्रैक अनुरक्षण, सड़क सुरक्षा के लिए रोड़ ओवर ब्रिज व रोड़ अण्डर ब्रिज का निर्माण आदि कार्यों के लिए अधिक बजट आवंटित किया गया है।

संरक्षा के लिये इस वर्ष बजट में 1625 करोड रूपए से अधिक का प्रावधान किया गया है। संरक्षा के अहम मद ट्रेक नवीनीकरण के लिए 700 करोड, रोड ओवर ब्रिज तथा रोड अण्डर ब्रिज (ROBs/RUBs) के लिये 585 करोड, सिगनल व दूरसंचार से सम्बंधित कार्यों के लिये 261 करोड, ब्रिज कार्यों के लिए 52 करोड़ एवं समपार फाटकों पर संरक्षा कार्योंं हेतु 28 करोड रूपए का आवंटन किया गया है।

यात्री सुविधाओं के मद पर उत्तर पश्चिम रेलवे को इस वर्ष 750 करोड रूपए का आवंटन किया गया है। इस मद में स्टेशनों के पुनर्विकास, लिफ्ट, एस्केलेटर, प्लेटफार्म का उन्नयन, स्टेशनों पर प्रकाश व्यवस्था, कोच गाइडेंस बोर्ड, कम्प्यूटर आधारित उद्घोषणा प्रणाली इत्यादि के कार्य किए जायेंगे। अधिक बजट आवंटन से यात्री सुविधाओं के लिये किये जा रहे कार्यों को गति प्राप्त होगी तथा इस मद में नए कार्यों को भी सम्मलित किया जा सकेगा।

रेलवे पर आधारभूत अवसंरचना (infrastructure) को सुदृढ़ करने के लिए जिनमें नई लाइने, दोहरीकरण, गेज परिवर्तन के कार्य जो प्रगति पर है उनके लिए भी पर्याप्त बजट का प्रावधान किया गया है, ताकि इनकों गति प्रदान की जा सकें। बजट में नई लाइनों के लिए 1438 करोड, आमान परिवर्तन के लिए 129 करोड तथा दोहरीकरण के लिए 925 करोड रूपए के बजट का आवंटन किया गया है।

इसके साथ ही यातायात सुविधाओं के लिए 206 करोड, रोलिंग स्टॉक के लिए 26 करोड, कर्मचारी कल्याण के लिए 31 करोड रूपए का बजट आवंटन किया गया है।

उत्तर पश्चिम रेलवे पर वर्तमान में प्रगति पर कार्यों के लिये बजट आवंटन

नई लाइनः

  1. दौसा-गंगापुरसिटी (92.67 किमी) 300 करोड़
  2. रतलाम-डूंगरपुर वाया बांसवाड़ा (176.47 किमी) 150 करोड़
  3. अजमेर-कोटा (नसीराबाद-जालिन्द्री) (145 किमी) 50 करोड़
  4. पुष्कर-मेडता (59 किमी) 50 करोड़
  5. अजमेर(नसीराबाद) -सवाई माधोपुर (चौथ का बरवाडा) वाया टोंक (145 किमी) 100 करोड़
  6. तारंगाहिल-आबूरोड़ वाया अंबाजी (89.39 किमी) 300 करोड़
  7. नीमच-बड़ी सादड़ी (48.30 किमी) 100 करोड
  8. गुढ़ा-ठठाना मीठडी परीक्षण ट्रैक प्रथम फेज (25 किमी) 120 करोड
  9. परीक्षण ट्रैक द्वितीय फेज (34 किमी) 250 करोड

दोहरीकरणः

  1. फुलेरा-डेगाना (108.75 किमी) 240 करोड
  2. डेगाना-राई का बाग (145 किमी) 22 करोड
  3. जयपुर-सवाई माधोपुर (131.27 किमी) 100 करोड
  4. अजमेर-चित्तौडगढ़ (186 किमी) 105 करोड
  5. सवाई माधोपुर बाइपास (6.98 किमी) 160 करोड
  6. चूरू-रतनगढ़ (42.81 किमी) 200 करोड
  7. मनहेरू-बवानी खेडा (31.50 किमी) 40 करोड
  8. काठूवास-नारनौल (24.12 किमी) 50 करोड

गेज परिवर्तनः

  1. मारवाड़-मावली (152 किमी) 75 करोड

विद्युतीकरणः
विभिन्न रेलखंडों का विद्युतीकरण 990 करोड

वर्ष 2024-25 के बजट में रेलवे के लिए पर्याप्त बजट के आवंटन से रेलवे कार्यों को गति मिलेगी और निर्धारित समय सीमा में पूरा किया जा सकेगा, जिससे यात्रियों को अधिकाधिक रेल सुविधाएं प्रदान की जा सकेगी।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *